The News Wall
साहस सच दिखाने की।

सांसद समीर उरांव ने हेमंत सरकार पर भाजपा शाषित निगम को परेशान करने का लगाया आरोप, कहा- निगम के पास पानी केलिये फंड नही

- Sponsored -

- Sponsored -

- sponsored -

- sponsored -

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष एवं सांसद समीर उरांव ने हेमंत सरकार पर कड़ा प्रहार किया है। उन्होंने सरकार पर भाजपा शाषित निगम को परेशान करने का आरोप लगते हुए कहा कि हेमंत सरकार राजधानी रांची के लोगों को भी पानी केलिये तरसाना चाहती है। इस सरकार की नीति भेदभाव पूर्ण है। भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि जिन निगमो में भाजपा का बहुमत है,उसे परेशान करने की मंशा सरकार के कार्रवाई में झलक रही है। उन्होंने कहा कि इसका ताजा उदाहरण सरकार द्वारा रांची नगर निगम को पेयजल सुविधा के लिये आवंटित राशि है।उन्होंने कहा कि रांची नगर निगम द्वारा वर्तमान वित्तीय वर्ष में पेयजल सुबिधा हेतु 19करोड़ 77लाख 78हजार 7सौ 21 रुपये का प्रस्ताव नगर विकास विभाग को भेजा गया था जिसके विरुद्ध मात्र 44लाख 56 हजार 9सौ 34 रुपये का ही आवंटन प्राप्त हुआ।इसमें भी पेयजल हेतु मात्र 31 लाख 19 हजार 8 सौ 58 रुपये का ही आवंटन है शेष 13 लाख रुपये जल मल निकासी मद में आवंटित है। उरांव ने कहा कि राज्य सरकार 11करोड़ 37 लाख 3 हजार 96 रुपये के आवंटन का ढिढोरा पिट रही।जबकि जनता को यह जानना आवश्यक है कि इसमें 10 करोड़ 85लाख 24 हजार 8सौ 71 रुपये का आवंटन नागरिक सुबिधा मद केलिये है.
उन्होंने झामुमो नेताओं द्वारा रघुवर सरकार पर रांची नगर निगम के साथ असहयोग के आरोप को भी निराधार बताते हुए कहा कि तत्कालीन सरकार में निगम वाटर यूज़र्स चार्ज की जमा राशि स्वयं खर्च करती थी परंतु अब उसे विभाग में जमा करने का प्रावधान हो गया है। उन्होंने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में रांची नगर निगम ने वाटर यूज़र्स चार्ज की संकलित लगभग 1.5 करोड़ की राशि को भी विभाग में ही जमा करा लिया है.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT

ADVERTISMENT

- Sponsored

- Sponsored

Comments are closed.